शीतकालीन सत्र 2021: 12 सांसदों के निलंबन पर विपक्ष की बैठक शुरू, संसद में आज भी सियासी संग्राम के आसार

0
49

संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन विपक्ष के 12 सदस्यों के निलंबन का मुद्दा आज गरमा सकता है। इस मुद्दे पर विपक्ष हंगामा कर सकता है। सत्र से पहले इस मुद्दे पर आगे की रणनीति तय करने के लिए विपक्ष की बैठक हो रही है। वहीं, राज्यसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खडगे ने कहा है कि इसपर माफी मांगने का सवाल ही नहीं उठता है। मानसून सत्र में इन सांसदों ने अशोभनीय आचरण किया था। सदन के अंदर तोड़फोड़, आसन पर पेपर फेंकने, टेबल पर चढ़कर डांस करने और मार्शल के साथ अभद्रता के आरोप थे। खडगे आज राज्यसभा के सभापति से बात करेंगे और अगर सरकार इनका निलंबन वापस नहीं लेती है तो विपक्ष पूरे सत्र का बहिष्कार कर सकता है।

12 सांसदों के निलंबन पर विपक्ष की बैठक

सदन के 12 विपक्षी सदस्यों के निलंबन को लेकर विपक्षी दलों के नेताओं ने संसद में राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के कार्यालय में बैठक की। इसमें आगे की रणनीति पर चर्चा की जा रही है।

बैठक के बाद लिया जाएगा फैसला: चौधरी

लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि सत्र को बहिष्कार किए जाने को लेकर मेरे पास कोई जानकारी नहीं है। 12 सांसदों के निलंबन को लेकर बैठक है। जो भी निर्णय इस बैठक के बाद लिया जाएगा उसे हम मानेंगे।

सरकार हर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार: नकवी

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि जिन भी मुद्दों पर विपक्ष बहस या चर्चा चाहता है उसके लिए सरकार तैयार है। उसके लिए नोटिस दिया जाता है। सरकार ने तो कभी कहा ही नहीं कि हम चर्चा नहीं करने देंगे।

माफी नहीं मांगेंगे: बिनाय विश्वम

सीपीआइ सांसद बिनाय विश्वम ने कहा है कि हमने आत्मानिर्भर भारत के लिए बैंक के निजीकरण के मुद्दे पर लड़ाई लड़ी… हम माफी नहीं मांगेंगे। विश्वम समेत 12 राज्यसभा सांसदों को शीतकालीन सत्र के शेष भाग के लिए अनुशासनहीनता के लिए निलंबित कर दिया गया है।

माफी मांगने का सवाल ही नहीं

विपक्ष के 12 सदस्यों के निलंबन पर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि भविष्य की रणनीति पर चर्चा के लिए विपक्षी दल आज बैठक कर रहे हैं। माफी मांगने का सवाल ही नहीं उठता। सांसदों को सदन के नियमों के खिलाफ निलंबित किया गया है।

लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव नोटिस

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने ‘सरकार को कृषि कानूनों के विरोध में जान गंवाने वाले किसानों का रिकार्ड बनाने और उनके परिवारों को मुआवजा देने का निर्देश देने के लिए’ लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया है। व हीं, कांग्रेस सांसद मनिकम टैगोर ने ‘देश भर में आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि के कारणों पर चर्चा करने के लिए और सरकार को पेट्रोल, डीजल, एलपीजी पर उत्पाद शुल्क को 2013 के स्तर तक कम करने के लिए उचित कदम उठाने का निर्देश देने के लिए’ लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here