पीएम मोदी ने बर्लिन में भारतीय समुदाय को किया संबोधित, कहा- नया भारत केवल सिक्योर फ्यूचर की नहीं सोचता, रिस्क लेता है

0
52

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को कहा कि एक नए पुनरुत्थान वाले भारत ने दृढ़ संकल्प के साथ आगे बढ़ने का मन बना लिया है और उन्होंने प्रवासी भारतीयों से वैश्विक स्तर पर बड़ी प्रगति करने में देश की मदद करने का आग्रह किया। भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि युवा और महत्वाकांक्षी भारत ने तेजी से विकास करने के लिए राजनीतिक स्थिरता की जरूरत को समझा और महज एक बटन के स्पर्श से तीन दशकों की अस्थिरता को खत्म कर दिया।

भारत के लोगों की शक्ति के बारे में करूंगा बात 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज मैं आपसे मोदी सरकार के बारे में बात नहीं करने आया हूं। आज मन करता है कि जी भरकर आप लोगों से भारत के लोगों की शक्ति और उनके सामर्थ्य की बात करूं और उनका गौरव गान करूं। आज सरकार निवेशकों के पांव में जंजीरें डालकर नहीं उनके मनोबल को बढ़ाकर आगे बढ़ रही है। आज कारोबार का सबसे उन्‍नत माहौल भारत में मौजूद है।

लोकल को ग्‍लोबल बनाने में मेरा साथ दें

पीएम मोदी ने कहा कि आज मैं आप सभी से यह आग्रह करूंगा कि भारत के लोकल को ग्‍लोबल बनाने में मेरा साथ दें। आप सब भारत के लोकल की विविधता, ताकत और खूबसूरती से लोगों को बहुत आसानी से परिचित करा सकते हैं। हम जलवायु परिवर्तन की चुनौती से निपटने के लिए पीपुल पावर से लेकर टेक पावर तक हर समाधान पर काम कर रहे हैं। बीते आठ वर्षों में हमने भारत में एलपीजी कवरेज को 50 फीसद से बढ़ाकर लगभग 100 फीसद कर दिया है। यही नहीं भारत का हर घर अब एलईडी बल्ब उपयोग कर रहा है।

रिस्क लेता है नया भारत

मोदी ने कहा कि पिछले आठ वर्षों में भारत हर क्षेत्र में तेजी से प्रगति कर रहा है – जीवन में सुगमता, जीवन की गुणवत्ता, रोजगार में आसानी, शिक्षा की गुणवत्ता, व्यापार करने में सुगमता, यात्रा की गुणवत्ता, उत्पादों की गुणवत्ता। उन्होंने कहा, ‘नया भारत अब एक सुरक्षित भविष्य के बारे में नहीं सोचता, बल्कि जोखिम लेने, नया करने और इनक्यूबेट करने के लिए तैयार है। भारत में 2014 के आसपास 200-400 स्टार्ट-अप थे, आज 68,000 स्टार्ट अप और दर्जनों यूनिकार्न हैं। इनमें से कुछ पहले से ही 10 अरब डालर के मूल्यांकन के साथ डेकाकार्न बन गए हैं।’

दुनिया का पेट भरने के लिए आगे आ रहा भारत

प्रधानमंत्री ने कहा कि 21वीं सदी के इस तीसरे दशक की सबसे बड़ी सच्चाई ये है कि आज इंडिया ग्‍लोबल होने जा रहा है। मानवता के सामने जब भी कोई संकट आता है तो भारत समाधान के साथ सामने आता है। यही नया भारत है, यही नए भारत की ताकत है। भारत ने कोरोना काल में 150 से ज्यादा देशों को जरूरी दवाइयां भेजकर अनेकों जिंदगियां बचाने में मदद की है। दुनिया आज गेहूं की कमी का सामना कर रही है। ऐसे में भारत का किसान दुनिया का पेट भरने के लिए आगे आ रहा है।

तेजी से आगे बढ़ रहा भारत 

प्रधानमंत्री ने कहा कि हम इस साल आजादी का 75 वर्ष मना रहे हैं। मैं देश का पहला प्रधानमंत्री ऐसा हूं जो आजाद हिंदुस्तान में पैदा हुआ हूं। भारत जब अपनी आजादी का 100 वर्ष मनाएगा उस समय देश जिस ऊंचाई पर होगा। उस लक्ष्य को लेकर आज हिंदुस्तान मजबूती के साथ एक के बाद एक कदम तेजी से आगे बढ़ रहा है।

डिजिटल इंडिया का बखान

डिजिटल भुगतान तंत्र की सफलता को याद करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनियाभर में रीयल टाइम डिजिटल पेमेंट में भारत की हिस्सेदारी 40 प्रतिशत से अधिक है। सरकार भी किसानों को सीधे उनके बैंक खातों में भुगतान करने के लिए डिजिटल भुगतान तंत्र का उपयोग कर रही है।

अब कहीं कोई बिचौलिया नहीं

पीएम मोदी ने कहा कि आज भारत गवर्नेंस में तकनीक को जिस तरह शामिल कर रहा है वह नए भारत की नई राजनीतिक इच्‍छाशक्ति को भी दिखाता है। यह डिमोक्रेसी और डिलिवरी की क्षमता का भी प्रमाण है। बीते सात से आठ वर्षों के दौरान भारत सरकार ने डाइरेक्‍ट बेनिफ‍िट ट्रांसफर के जरिए 22 लाख करोड़ रुपये से अधिक की राशि लाभार्थियों के खातों में भेजे हैं। अब कहीं कोई बिचौलिया नहीं, कोई कट कम्पनी नहीं, कोई कटमनी नहीं।

कांग्रेस पर साधा निशाना 

कांग्रेस पर परोक्ष निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि अब किसी प्रधानमंत्री को यह अफसोस नहीं करना पड़ेगा कि वह एक रुपया भेजते हैं, लेकिन केवल 15 पैसे ही इच्छित लाभार्थी तक पहुंचते हैं। उन्होंने चुटकी ली, ‘वह कौन सा पंजा था जो 85 पैसे घिस लेता था’ उन्होंने कहा कि पिछले आठ वषरें में उनकी सरकार ने प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण के माध्यम से लाभार्थियों को 22 लाख करोड़ रुपये से अधिक का हस्तांतरण किया है।

संकल्प लेकर आगे बढ़ रहा भारत

पीएम मोदी ने कहा कि आज का भारत संकल्प लेकर आगे बढ़ रहा है। आप भी जानते हैं कि जब कोई देश संकल्‍प ले लेता है तो वह नए रास्तों पर भी चलता है और मनचाही मंजिलों को हासिल करके दिखाता है। आज का आकांक्षी भारत, आज का युवा भारत, देश का तेज विकास चाहता है। आज का भारत जानता है कि इसके लिए राजनीतिक स्थिरता और प्रबल इच्छाशक्ति कितनी जरूरी है। यही कारण है कि भारत के लोगों ने तीन दशकों से चली आ रही राजनीतिक अस्थिरता के वातावरण को एक बटन दबाकर खत्म कर दिया।

भारत में जनता ही ड्राइविंग फोर्स

पीएम मोदी ने कहा कि यह भारत की महान जनता की दूरदृष्टि है कि साल 2019 में उसने देश की सरकार को पहले से भी ज्यादा मजबूत बना दिया। देश आगे तब बढ़ता है जब देशवासी उसके विकास का नेतृत्व करें… देश आगे बढ़ता है जब देशवासी उसकी दिशा तय करें। आज के भारत में जनता ही ड्राइविंग फोर्स है।

भारतीय मूल के दो बच्चों ने जीता पीएम मोदी का दिल

जर्मनी में भारतीय मूल के दो छोटे बच्चों के लिए यह किसी सपने के सच होने जैसा था, जब उन्होंने अपनी प्रतिभा से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का दिल जीत लिया और प्रधानमंत्री ने उनकी सराहना की। प्रधानमंत्री के सोमवार सुबह बर्लिन पहुंचने पर प्रवासी भारतीयों ने उनका शानदार स्वागत किया। आशुतोष और मान्या मिश्रा उन बच्चों में शामिल थे जो समुदाय के अन्य लोगों के साथ होटल एडलान कैंपिंस्की में प्रधानमंत्री का इंतजार कर रहे थे। आशुतोष ने प्रधानमंत्री मोदी के लिए देशभक्ति का एक गीत गाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here