उदयपुर में रियाज ने 17 जून को ही कर दिया था कन्हैयालाल के कत्ल का ऐलान

0
97

राजस्थान के उदयपुर में नूपुर शर्मा के समर्थन की वजह से दिनदहाड़े कन्हैयालाल नाम के एक टेलर का गला रेत दिया गया है। पुलिस ने वारदात के कुछ घंटों बाद दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि, चौंकाने वाली बात यह है कि 17 जून को ही आरोपियों ने इस बात का ऐलान कर दिया था कि वह कन्हैयालाल की हत्या कर देंगे। उन्होंने बकायदा इसका वीडियो भी जारी किया था, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था। ऐसे में राजस्थान पुलिस भी सवालों के घेरे में आ गई है।

इस पूरे मामले की शुरुआत करीब एक पखवाड़े पहले हुई, जब कन्हैयालाल ने पैगंबर में मोहम्मद साहब के खिलाफ टिप्पणी करने वाली भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया में कुछ पोस्ट किया था। हालांकि, परिवार के लोगों का यह भी कहना है कि विवादित पोस्ट को कन्हैया के 8 साल के बेटे ने कुछ वॉट्सऐप ग्रुप में गलती से भेज दिया था।

इसके बाद से ही कन्हैयालाल कट्टरपंथियों के निशाने पर आ गया था। बताया जा रहा है कि 17 जून को रियाज ने एक वीडियो जारी करके कन्हैया के कत्ल की धमकी दी धी। इसके बाद कन्हैया ने पुलिस से शिकायत भी की थी। वहीं, कुछ लोगों का यह भी दावा है कि मुस्लिम समाज के कुछ लोगों ने भी कन्हैया के खिलाफ केस दर्ज कराया था, लेकिन उसे जमानत पर रिहा कर दिया गया था।

टारगेट पर थे तीन लोग
सूत्रों के मुताबिक, नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट को लेकर तीन लोगों के खिलाफ धानमंडी थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया था। इनमें कन्हैयालाल भी शामिल था। पुलिस ने शिकायत के बात तीनों को पकड़ा था, लेकिन बाद में जमानत दे दी थी। बताया जा रहा है कि तीनों ही लोग कट्टरपंथियों के निशाने पर थे और कन्हैयालाल शिकार बन गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here