यूपी में 13 से 15 अगस्त हर घर फहराएगा त‍िरंगा

0
161

आजादी के अमृत महोत्सव  के तहत आयोज‍ित किए जा रहे हर घर तिरंगा कार्यक्रम को लेकर शासन बेहद गंभीर है। मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि इस कार्यक्रम की तैयारी समय से कर लें। उ

यूपी में धूमधाम से मनाया जाएगा स्‍वतंत्रता द‍िवस

  • 13 से 15 अगस्त तक यह अभियान चलाया जाएगा। इससे आमजन को जोड़ना है। इसी तरह 14 अगस्त को विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस मनाया जाएगा।
  • सभी जिलों में इससे संबंधित प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी। मुख्य सचिव ने निर्देशित किया कि प्रदेश के स्कूल, कालेज और विश्वविद्यालयों में 11 से 17 अगस्त तक स्वतंत्रता सप्ताह
  • मनाया जाए और इस कार्यक्रम में अधिक से अधिक युवाओं को जोड़ने का प्रयास किया जाए।
  • स्वतंत्रता सेनानियों के इतिहास के बारे में जानकारी जुटाएं। अच्छा प्रदर्शन करने वाले जिलों को 17 अगस्त को लखनऊ में सम्मानित किया जाएगा।
  • मुख्‍य सच‍िव ने इस दौरान संचारी रोग नियंत्रण अभियान सहित विभिन्न योजनाओं की भी समीक्षा की। वहीं, कई मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों ने अलग-अलग जिलों में किए गए अच्छे कार्यों और प्रयोगों का प्रस्तुतीकरण किया।
  • हर घर तिरंगा के लिए जिलों को मिलेंगे पांच-पांच लाख रुपये

    • आजादी के अमृत महोत्सव  के तहत हर घर तिरंगा कार्यक्रम आयोजित करने के लिए शासन ने तीन करोड़ 75 लाख रुपये स्वीकृत किए हैं।
    • संस्कृति विभाग के प्रमुख सचिव मुकेश कुमार मेश्राम ने इस संबंध में शासनादेश जारी कर दिया। इसमें कहा गया है कि आयोजन के लिए प्रत्येक जिले को पांच-पांच लाख रुपये दिए जाएंगे।
    • सुविधायुक्त प्रेक्षागृह के लिए शिक्षण संस्थानों का सहयोग लेना होगा। बैकड्राप, स्टैंडी, होर्डिंग आदि में नागरिक संगठनों और कारपोरेट सोशल रेस्पांसिबिलिटी (सीएसआर) फंड का सहयोग लेना होगा।
    • जिलाधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि सभी आयोजनों में प्रभारी मंत्रियों और जनप्रतिनिधियों को मुख्य अतिथि व विशिष्ट अतिथि के रूप में आमंत्रित करना होगा।
    • बलिदानियों के स्वजन को किया जाएगा सम्मानित

      स्वतंत्रता सप्ताह  के तहत जिलों में मनाए जाने वालो कार्यक्रमों में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, सैन्य बल, केंद्रीय पुलिस बल और पुलिस विभाग के बलिदानियों के स्वजन को सम्मानित किया जाएगा। कवि सम्मेलन और मुशायरा के लिए कवियों-शायरों का चयन जिला स्तरीय आयोजन समिति करेगी। एक राष्ट्रीय कवि के साथ तीन-चार स्थानीय कवि और शायर आमंत्रित करने होंगे। आयोजन के लिए धनराशि संस्कृति विभाग द्वारा जिला पर्यटन एवं संस्कृति परिषद के बैंक खातों या जिलाधिकारी द्वारा बताए गए अन्य खातों में उपलब्ध कराई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here