विस्थापितों का दर्द साझा करेंगे प्रधानमंत्री मोदी lबड़ी संख्या में विस्थापितों को दिल्ली पहुंचने का सिंधी सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक अंशवानी का आह्वान

0
572

विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस 14 अगस्त 22 को प्रधानमंत्री मोदी बंटवारे के दर्द को साझा करने के लिए विस्थापितों के बीच दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम पहुंचेंगे l
देशभर से बड़ी संख्या में विस्थापितों को दिल्ली पहुंचने की अपील l


सिंधी समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक अंशवाणी ने आज एक प्रेस वार्ता में बताया कि भारत को 15 अगस्त 1947 को ब्रिटिश शासन से आजादी मिली l स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई में सिंध प्रदेश के हजारों क्रांतिकारियों ने भी अपना बलिदान दिया l स्वतंत्रता दिवस जो हर साल 15 अगस्त को मनाया जाता है किसी भी राष्ट्र के लिए एक खुशी और गर्व का अहसास कराता है हालांकि स्वतंत्रता के साथ-साथ देश को विभाजन का दंश भी झेलना पड़ा l जिससे मानव इतिहास में यह विभाजन सबसे बड़े विस्थापितों में से एक है लगभग 20 मिलियन लोग इससे प्रभावित थे लाखों परिवारों को अपने घरों से बेघर होने को मजबूर होना पड़ा और अपने ही देश में शरणार्थी के रूप में एक नया जीवन जीने के लिए मजबूर होना पड़ा l 14-15 अगस्त 2022 की आधी रात को पूरा देश 76 वा स्वतंत्र दिवस आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा होगा l

लेकिन इसके साथ ही विभाजन का दर्द और हिंसा भी देश की स्मृति में गहराई से अंकित है देश के विभाजन के दर्द को कभी भुलाया नहीं जा सकता यद्यपि आजादी के 74 वर्ष तक किसी भी प्रधानमंत्री ने बंटवारे के दर्द को महसूस नहीं किया
धन्य है देश के वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी जिन्होंने पिछले वर्ष 14 अगस्त को यह घोषणा की कि प्रत्येक वर्ष 14 अगस्त को विभाजन से पीड़ित लोगों के संघर्ष एवं बलिदान याद में विभाजन की विभीषिका स्मृति दिवस के रूप में मनाया जाएगा l इसी कड़ी में आगामी 14 अगस्त 22 को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में पहली बार विभाजन के कारण अपनी जान गवाने वाले और अपने घरों से विस्थापित होने वाले सभी लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे एवं इसके साथ लाखों विस्थापितों के बंटवारे के दर्द को साझा करेंगे l निश्चित तौर पर प्रधानमंत्री की इस पहल से देश के लाखों विस्थापित नई ऊर्जा के साथ एकता ,सामाजिक सद्भाव और मानव सशक्तिकरण की भावना के साथ अधिक मजबूत होंगे l मैं इस अवसर पर देश मे रहे रहे सभी विस्थापितों को 14 अगस्त को दिल्ली पहुंचने के साथ , सायं विभाजन से पीड़ित लोगों की याद में मोमबत्ती जलाकर उनको अपनी श्रद्धांजलि अर्पित अवश्य करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here