मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष पर हत्या का केस; टिकैत बोले- मंत्री की बर्खास्तगी तक शवों का अंतिम संस्कार नहीं

0
145

लखीमपुर खीरी में रविवार दोपहर बाद हुई हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र समेत 14 लोगों पर हत्या, आपराधिक साजिश और बलवे का केस दर्ज हुआ है। यह केस बहराइच के नानपारा के रहने वाले जगजीत सिंह की तहरीर पर तिकुनिया थाने में लिखा गया है। लखीमपुर खीरी में रविवार को किसान आंदोलन के बीच भड़की हिंसा में 8 लोगों की मौत हुई थी। वहीं, सोमवार सुबह एक पत्रकार का शव भी बरामद हुआ है। इसको मिलाकर अब तक मरने वालों की संख्या 9 हो गई है।

इधर, लखीमपुर पहुंचे भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने ऐलान किया है कि जब तक मंत्री अजय मिश्र को बर्खास्त नहीं किया जाता है। उनके बेटे की गिरफ्तारी नहीं होती है। मृतक किसानों के शवों का अंतिम संस्कार नहीं होगा।

उधर, रविवार रात को मंत्री अजय मिश्र ने कहा था कि घटनास्थल पर उनका बेटा मौजूद ही नहीं था। प्रदर्शन कर रहे किसानों के बीच घुसे कुछ शरारती तत्वों ने BJP के 3 कार्यकर्ताओं और उनके काफिले की एक गाड़ी के ड्राइवर को पीट-पीटकर मार डाला।

शव घटनास्थल पर अंतिम दर्शन के लिए रखे
किसानों के शव अग्रसेन इंटर कॉलेज के बाहर रखे हैं। राकेश टिकैत सुबह 5:30 बजे तिकुनिया पहुंचे। उन्होंने किसानों के शवों के अंतिम दर्शन किए। इसके बाद अपनी 5 मांगे गिनाईं। कहा जब तक मांग पूरी नहीं हुई तो यहां से हम हिलने वाले नहीं। इसके बाद 7:15 बजे प्रशासन के अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर राकेश टिकैत से बात की। लेकिन राकेश टिकैत अपनी मांगों पर अड़े रहे। राकेश टिकैत ने कहा, यह एक साजिश है, जो बहुत दिनों से अजय मिश्र और उनके बेटे आशीष मिश्र के द्वारा रची जा रही थी। मौके पर 700 से ज्यादा किसान जुटे हुए हैं।

राकेश टिकैत की 5 बड़ी मांग

  • हिंसा की न्यायिक जांच हो
  • मृतकों के परिवार को एक करोड़ का मुआवजा
  • मृतकों के परिवार के एक सदस्य को नौकरी
  • सांसद के बेटे समेत 14 आरोपियों की गिरफ्तारी
  • अजय मिश्र की मंत्री पद से बर्खास्तगी

तीन कंपनी पीएसी के अलावा तीन जिलों से फोर्स पहुंची
हिंसा के बाद लखीमपुर के तिकुनिया में तीन कंपनी पीएसी, हरदोई, बाराबंकी, लखनऊ ग्रामीण और लखीमपुर की फोर्स को तैनात किया गया है। कुल मिलाकर करीब एक हजार जवान मौके पर मुस्तैद हैं। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर, एडीजी जोन लखनऊ एसएन साबत, अतिरिक्त आईपीएस अजय पाल शर्मा को लगाया गया है। अजय पाल लुधियाना के रहने वाले हैं। इसलिए डेमैज कंट्रोल के लिए उनको यहां भेजा गया है।

लखीमपुर जिले में कल तक के लिए इंटरनेट बंद
लखीमपुर में तनाव को देखते हुए प्रशासन ने मंगलवार तक के लिए जिले में इंटरनेट बंद कर दिया है। सोमवार को सिर्फ घटनास्थल के 20 किलोमीटर के दायरे में इंटरनेट बंद किया गया था। जिले में धारा 144 लगा दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here